गुरुवार, 14 जून 2012

patrottar


Thursday, June 14, 2012
आदरणीय तिवारी जी,                
              सादर चरण स्पर्श | आशा है आप स्वस्थ एवं सानन्द होंगे|
तीन चार दिन पूर्व आपसे हुई टेलीवार्ता के उपरान्त कल आपका/थपलियाल जी का
कृपापत्र प्राप्त हुआ| मैं वर्तमान में कुछ अर्थाभाव में चल रहा हूं इस लिये मात्र तन
और मन से ही आपका पूर्ण सहयोग कर सकता हूं| इसके लिये मैं पूर्व से ही वचन
बद्ध हूं|
               आशा है आप कृपाभाव बनाए रखेंगे और यथायोग्य सेवा हेतु
याद करते रहेंगे|
                                आदर सहित|
                                       आपका अनुज,




                                        (डा.राज सक्सेना)

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें