मंगलवार, 16 अगस्त 2011

निभाता कौन है |


      निभाता कौन है |
            -डा.राज सक्सेना
कब किसी के भी दुखों में,काम आता कौन है |
दो कदम भी साथ दे, जहमत उठाता कौन है |
सर्द हैं चेहरे सभी के, संवेदनायें मिट चुकी हैं,
गीत खुशियों के कभी भी,गुनगुनाता कौन है |
कारोबारी हो गए,इंसानियत   मन से  गयी,
घर पड़ोसी के भी मय्यत,हो तो जाता कौन है |
दूर तक फैला हुआ है,शून्य सा एक आजकल,
एक बच्चे की तरह अब ,खिलखिलाता कौन है |
आज बच्चा भी तरसता,मां से मिलने के लिये,
लोरियां लाड़ों भरी,  उसको  सुनाता कौन है |
ताबूत में सब बन्द जैसे,आज कब्रिस्तान में,
रस्में दुनिया"राज्"है पर,ये निभाता कौन है |

 धनवर्षा,हनुमानमन्दिर,खटीमा-२६२३०८(उ०ख०)
      मो- ०९४१०७१८७७७

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें