शनिवार, 23 जुलाई 2011


      उज्जवल -उन्नत -उत्त्तराख्ण्ड
                    - राज सक्सेना

पावन , पुण्य-प्रसून ,प्रखण्ड |
उज्जवल -उन्नत -उत्त्तराख्ण्ड |

सफल समन्वित्-श्रमशुचिमान |
गण्-गौरव ,  गंगा-गतिमान |
विरल्-वनस्पति,विश्रुत वैभव्-
वनधन,पशुधन  श्री-श्रुतिमान |

मधुमहिमा -मन्डित सत्-खण्ड |
उज्जवल -उन्नत -उत्त्तराख्ण्ड |

नन्दा,नयना, नवल - प्रयाग |
भावभूमि, भवभरित - प्रभाग |
अन्न -रत्न  आपूरित  आंगन ,
तन्मय -तरल , तराई -भाग |

धवल धरा, ध्वज-धर्म अखण्ड |
उज्जवल -उन्नत -उत्त्तराख्ण्ड

सर्व-सुलभ , श्रुत-श्रेष्ठ  विहार |
हिममय   हेमकुण्ड    हरिद्वार |  
परम प्रतिष्टित - चतुष्धाम से ,
पावन द्वै-नद्  पुलक    प्रसार |

पावस प्रचुर , प्रकल्पित खण्ड |
उज्जवल -उन्नत -उत्त्तराख्ण्ड

सर्व-ध्रर्म , समुदाय - निवास |
शौर्य ,सत्य, शुचिता -सम्वास |
प्रेम - परस्पर , पावन-पूरित ,
मूल सहित ,  श्रमशील प्रवास |

भ्रातृ-भाव ,भव -भूमि अखण्ड |
उज्जवल -उन्नत -उत्त्तराख्ण्ड

  धनवर्षा,हनुमान मन्दिर,
खटीमा-२६२३०८(उत्तराख्ण्ड)
मो० - ०९४१०७१८७७७

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें