शुक्रवार, 22 अप्रैल 2011

रोज सवेरे उठो बालको,थोड़ी कसरत करो बालको ,
छुओ पैर बड़े जितने हों, तभी काम कुछ करो बालको /
दांतों पर मंजन कर डालो, मुख को अच्छे से धो डालो,
अंग-अंग की मालिश करके, तब स्नान करो बालको /

थोडा ध्यान इष्ट का लाओ, और नाश्ता जी भर खाओ,
फिर बैठो पढने को भैया,पूरा ध्यान पाठ पर लाओ /
कल का पाठ पूर्ण दोहराकर, देखो पाठ आज का भी,
फिर शाला की करो तैयारी, बैग सही से स्वंम लगाओ /

पूरी ड्रेस पहन कर भैया, जूता पहनो,  टाई लगाओ ,
बैग टांग कंधे पर अपना, बस की लाइन में लग जाओ /
जा विद्यालय ध्यान लगा कर,करो पढ़ाई ध्यान लगाकर ,
इंटरवल में लंच उड़ाकर,पुन: पढ़ाई में लग जाओ /

हो छुट्टी न  दौड़ लगाओ, एक लाइन में बस तक जाओ ,
 घर आये आराम से उतरो,दोनों ओर देख घर जाओ /
बैग उतारो घर पर जाकर,रखो पुस्तकें सही जगह पर, 
होम वर्क जो आज मिला है, उसको सबसे ऊपर लाओ /

करो नाश्ता माँ जो देती, हो कर फ्रेश  खेल  को जाओ ,
जी भर खेलो मन से भैया, धमा चोकड़ी नहीं मचाओ /
घंटा भर तुम खेलो जमकर,लेकिन खेलो केवल दमभर,
खेल खत्म वापस घर आओ, होमवर्क सारा ले आओ /

बैठो जमकर करो ध्यान से, पूरा होमवर्क निबटाओ ,
कल के लिए ध्यान से अपना, पूरा-पूरा बैग लगाओ /
खाना खाकर जाओ शयन को, लेटो पाठ पुन: दोहराकर,
 राज' ध्यान इष्ट का करके,करो बंद आँखे सो जाओ /

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें